• Mon. Mar 4th, 2024

NotesPlanet

Visit Our NotesPlanet Website and Build your Future

Bhagat Singh BiographyBhagat Singh Biography

Bhagat Singh Biography

Bhagat Singh Biography: Bhagat Singh was an influential figure in India’s struggle for independence against British colonial rule. Born on September 28, 1907, in a Sikh family in Punjab, Bhagat Singh was deeply impacted by the Jallianwala Bagh massacre in 1919 and the prevailing political unrest.

भगत सिंह ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन के खिलाफ भारत के स्वतंत्रता संग्राम में एक प्रभावशाली व्यक्ति थे। 28 सितंबर, 1907 को पंजाब के एक सिख परिवार में जन्मे भगत सिंह पर 1919 में जलियांवाला बाग हत्याकांड और तत्कालीन राजनीतिक अशांति का गहरा प्रभाव पड़ा।

He joined the National College in Lahore, where he came under the influence of revolutionary movements and ideologies. Singh became involved with various nationalist organizations, including the Hindustan Socialist Republican Association (HSRA), advocating for complete independence from British rule through revolutionary means.

वह लाहौर के नेशनल कॉलेज में शामिल हुए, जहाँ वे क्रांतिकारी आंदोलनों और विचारधाराओं के प्रभाव में आये। सिंह क्रांतिकारी तरीकों से ब्रिटिश शासन से पूर्ण स्वतंत्रता की वकालत करने वाले हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन (एचएसआरए) सहित विभिन्न राष्ट्रवादी संगठनों में शामिल हो गए।

One of the pivotal moments in Bhagat Singh’s life was the Lahore Conspiracy Case. In 1928, he and his associates plotted to avenge the death of Lala Lajpat Rai, who died protesting against the Simon Commission. They mistakenly identified J.P. Saunders as the officer responsible and assassinated him. Following this, Singh and his comrades threw leaflets proclaiming their intentions and took responsibility for the act. This event led to Singh becoming a prominent figure in the Indian independence movement.

Bhagat Singh

भगत सिंह के जीवन का एक महत्वपूर्ण क्षण लाहौर षडयंत्र केस था। 1928 में, उन्होंने और उनके सहयोगियों ने लाला लाजपत राय की मौत का बदला लेने की साजिश रची, जिनकी साइमन कमीशन के विरोध में मृत्यु हो गई थी। उन्होंने गलती से जे.पी. सॉन्डर्स को जिम्मेदार अधिकारी के रूप में पहचान लिया और उनकी हत्या कर दी। इसके बाद, सिंह और उनके साथियों ने अपने इरादों की घोषणा करते हुए पर्चे फेंके और इस कृत्य की जिम्मेदारी ली। इस घटना के कारण सिंह भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में एक प्रमुख व्यक्ति बन गए।

In 1930, Bhagat Singh and Batukeshwar Dutt threw non-lethal bombs in the Central Legislative Assembly in Delhi to protest against oppressive laws and demand equal rights for Indians. They were subsequently arrested and tried for the bombing. During the trial, Singh used the court as a platform to express his revolutionary ideas, seeking to inspire the youth to fight against colonial oppression.

1930 में, भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त ने दमनकारी कानूनों के विरोध में और भारतीयों के लिए समान अधिकारों की मांग के लिए दिल्ली में केंद्रीय विधान सभा में गैर-घातक बम फेंके। बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और उन पर बमबारी का मुकदमा चलाया गया। मुकदमे के दौरान, सिंह ने युवाओं को औपनिवेशिक उत्पीड़न के खिलाफ लड़ने के लिए प्रेरित करने के लिए अपने क्रांतिकारी विचारों को व्यक्त करने के लिए एक मंच के रूप में अदालत का इस्तेमाल किया।

Bhagat Singh Biography

Despite numerous appeals for clemency, Bhagat Singh, along with Rajguru and Sukhdev, was sentenced to death. On March 23, 1931, they were executed in Lahore Central Jail, turning them into martyrs for the cause of India’s freedom.

क्षमादान के लिए कई अपीलों के बावजूद, राजगुरु और सुखदेव के साथ भगत सिंह को मौत की सजा सुनाई गई। 23 मार्च, 1931 को उन्हें लाहौर सेंट्रल जेल में फाँसी दे दी गई, जिससे वे भारत की आज़ादी के लिए शहीद हो गए।

Bhagat Singh’s sacrifice and courage deeply inspired the Indian populace, and he remains an icon of bravery, patriotism, and sacrifice in the history of India’s struggle for independence. His legacy continues to inspire generations of Indians seeking justice, equality, and freedom.

भगत सिंह के बलिदान और साहस ने भारतीय जनता को गहराई से प्रेरित किया, और वह भारत के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में बहादुरी, देशभक्ति और बलिदान के प्रतीक बने हुए हैं। उनकी विरासत न्याय, समानता और स्वतंत्रता चाहने वाले भारतीयों की पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी।

Important Links

Facebook:  Notesplanet

Instagram: Notesplanet1 

Tags: bhagat Singh biography in Hindi , bhagat Singh biography in English , bhagat Singh biography in Telugu , short biography of bhagat Singh , bhagat Puran Singh biography in Punjabi , bhagat Singh biography book , bhagat Singh biography in English pdf , bhagat Singh biography in Punjabi , Shaheed bhagat Singh biography 

 

 

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *