Rajiv Gandhi Biography

0
81
Rajiv Gandhi Biography
Rajiv Gandhi Biography

Rajiv Gandhi Biography

Rajiv Gandhi Biography: Rajiv Gandhi was an Indian politician who served as the seventh Prime Minister of India from 1984 to 1989. He was born on August 20, 1944, in Bombay (now Mumbai), India, and was the elder son of Indira Gandhi, the first female Prime Minister of India, and Feroze Gandhi, a prominent political activist.

राजीव गांधी एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे, जिन्होंने 1984 से 1989 तक भारत के सातवें प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया। उनका जन्म 20 अगस्त, 1944 को बॉम्बे (अब मुंबई), भारत में हुआ था और वह पहली महिला इंदिरा गांधी के बड़े बेटे थे। भारत के प्रधान मंत्री और फ़िरोज़ गांधी, एक प्रमुख राजनीतिक कार्यकर्ता।

Rajiv Gandhi was educated in India and the United Kingdom, where he studied engineering and later worked as a professional pilot for Indian Airlines. He entered politics after the tragic death of his younger brother, Sanjay Gandhi, in 1980.

राजीव गांधी की शिक्षा भारत और यूनाइटेड किंगडम में हुई, जहां उन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और बाद में इंडियन एयरलाइंस के लिए एक पेशेवर पायलट के रूप में काम किया। 1980 में अपने छोटे भाई संजय गांधी की दुखद मृत्यु के बाद उन्होंने राजनीति में प्रवेश किया।

Rajiv Gandhi

Rajiv Gandhi became a member of the Indian Parliament and, following the assassination of his mother Indira Gandhi in 1984, he was appointed as the Prime Minister of India. During his tenure, he initiated several economic and social reforms, including efforts to modernize the economy and promote technology and education. He also played a significant role in shaping India’s foreign policy.

राजीव गांधी भारतीय संसद के सदस्य बने और 1984 में अपनी मां इंदिरा गांधी की हत्या के बाद, उन्हें भारत के प्रधान मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया। अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने कई आर्थिक और सामाजिक सुधारों की शुरुआत की, जिनमें अर्थव्यवस्था को आधुनिक बनाने और प्रौद्योगिकी और शिक्षा को बढ़ावा देने के प्रयास शामिल थे। उन्होंने भारत की विदेश नीति को आकार देने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

However, his term as Prime Minister was marred by controversies, including the Bofors scandal, which had a negative impact on his government’s reputation. In the 1989 general elections, his party, the Indian National Congress, was defeated, and he resigned from the post of Prime Minister.

हालाँकि, प्रधान मंत्री के रूप में उनका कार्यकाल बोफोर्स घोटाले सहित विवादों से भरा रहा, जिसका उनकी सरकार की प्रतिष्ठा पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा। 1989 के आम चुनावों में उनकी पार्टी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस हार गई और उन्होंने प्रधान मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

Rajiv Gandhi Biography

Tragically, Rajiv Gandhi’s life was cut short when he was assassinated on May 21, 1991, during an election campaign in Sriperumbudur, Tamil Nadu, by a suicide bomber associated with the Sri Lankan militant organization (LTTE) Liberation Tigers of Tamil Eelam.

दुखद बात यह है कि राजीव गांधी का जीवन तब समाप्त हो गया जब 21 मई, 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में एक चुनाव अभियान के दौरान श्रीलंकाई आतंकवादी संगठन (एलटीटीई) लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम से जुड़े एक आत्मघाती हमलावर द्वारा उनकी हत्या कर दी गई।

Rajiv Gandhi’s legacy is a subject of varied opinions in India. Some remember him as a charismatic leader who brought a new vision to Indian politics, while others criticize certain aspects of his administration. Nevertheless, he remains an important figure in Indian political history.

राजीव गांधी की विरासत भारत में विभिन्न मतों का विषय है। कुछ लोग उन्हें एक करिश्माई नेता के रूप में याद करते हैं जो भारतीय राजनीति में एक नई दृष्टि लेकर आए, जबकि अन्य उनके प्रशासन के कुछ पहलुओं की आलोचना करते हैं। फिर भी, वह भारतीय राजनीतिक इतिहास में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति बने हुए हैं।

Important Links

Facebook:  Notesplanet

Instagram: Notesplanet1 

Tags: rajiv gandhi biography pdf, rajiv gandhi death date, rajiv gandhi wife, indira gandhi husband, rajiv gandhi mother, rajiv gandhi death age, rajiv gandhi death reason hindi, rajiv gandhi age.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here