• Mon. Mar 4th, 2024

NotesPlanet

Visit Our NotesPlanet Website and Build your Future

History Of Amber FortHistory Of Amber Fort

History Of Amber Fort

History Of Amber Fort: The Amer Fort, also known as Amber Fort, is a majestic historical fort located in Amer, a town near Jaipur in the Indian state of Rajasthan. Its construction began in 1592 by Raja Man Singh I, a trusted general of Emperor Akbar, and was expanded and renovated by subsequent rulers.

आमेर किला, जिसे अंबर किला के नाम से भी जाना जाता है, भारत के राजस्थान राज्य में जयपुर के पास एक शहर आमेर में स्थित एक राजसी ऐतिहासिक किला है। इसका निर्माण 1592 में सम्राट अकबर के भरोसेमंद सेनापति राजा मान सिंह प्रथम द्वारा शुरू किया गया था, और बाद के शासकों द्वारा इसका विस्तार और नवीनीकरण किया गया था।

The fort is a blend of Hindu and Rajput architectural styles, reflecting both artistic and strategic brilliance. Its red sandstone and marble structures are perched atop a hill, offering breathtaking views of the surrounding landscape.

यह किला हिंदू और राजपूत स्थापत्य शैली का मिश्रण है, जो कलात्मक और सामरिक प्रतिभा दोनों को दर्शाता है। इसकी लाल बलुआ पत्थर और संगमरमर की संरचनाएँ एक पहाड़ी के ऊपर स्थित हैं, जो आसपास के परिदृश्य के मनमोहक दृश्य प्रस्तुत करती हैं।

Amer Fort served as the main residence of the Rajput Maharajas and their families until Jaipur was established as the capital of Rajasthan. The fort is known for its ornate palaces, courtyards, intricate mirror work, and beautiful frescoes.

जयपुर के राजस्थान की राजधानी के रूप में स्थापित होने तक आमेर किला राजपूत महाराजाओं और उनके परिवारों के मुख्य निवास के रूप में कार्य करता था। यह किला अपने अलंकृत महलों, आंगनों, जटिल दर्पण कार्य और सुंदर भित्तिचित्रों के लिए जाना जाता है।

Important Points of Amber Fort

Ganesh Pol: This is the main gateway to the palace and is adorned with intricate frescoes and detailed designs.

गणेश पोल: यह महल का मुख्य प्रवेश द्वार है और जटिल भित्तिचित्रों और विस्तृत डिजाइनों से सजाया गया है।

Diwan-i-Khas: The Hall of Private Audience meant for private meetings and discussions.

दीवान-ए-खास: निजी दर्शकों का हॉल निजी बैठकों और चर्चाओं के लिए होता है।

Diwan-i-Aam: The Hall of Public Audience where the Maharaja addressed the grievances of the commoners.

दीवान-ए-आम: सार्वजनिक दर्शकों का हॉल जहां महाराजा आम लोगों की शिकायतों को संबोधित करते थे।

Amber Fort

The fort also has a series of gardens, pavilions, and temples within its complex, showcasing the opulence and grandeur of the Rajput era.

किले के परिसर में बगीचों, मंडपों और मंदिरों की एक श्रृंखला भी है, जो राजपूत युग की समृद्धि और भव्यता को प्रदर्शित करती है।

Visiting Amer Fort today allows people to marvel at its architecture, intricate designs, and understand the rich history and culture of Rajasthan. Sound and light shows in the evening narrate the history of the fort, adding to the overall experience for visitors.

आज आमेर किले का दौरा करने से लोगों को इसकी वास्तुकला, जटिल डिजाइनों को देखकर आश्चर्यचकित होने और राजस्थान के समृद्ध इतिहास और संस्कृति को समझने का मौका मिलता है। शाम को ध्वनि और प्रकाश शो किले के इतिहास को बताते हैं, जो आगंतुकों के समग्र अनुभव को बढ़ाते हैं।

Important Links

Facebook:  Notesplanet

Instagram: Notesplanet1

Tags: Which year amer fort constructed in jaipur, current owner of amer fort, 10 lines on amer fort, amer fort architecture, amer, jaipur, amer fort timings, amber fort photos, amer fort history in hindi.

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *